क्या कोरोना(Corona virus) वायरस छेत्रिय इलाको को भी प्रभावित कर सकता है ?


कोरोना वायरस(Corona virus) भारत में पहले से काफि शहरों  एवं राज्यों को प्रभावित कर चूका है और ये आंकड़ा रुकने का नाम नहीं ले रहा है।  राज्य और केंद्र सरकारों ने भी इस विषय को गंभीरता से लिया है और इसके लिए कई प्रयास किये जा रहे है जिनमे से रविवार  को भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने "जनता कर्फ्यू "(Janta curfew) का एलान किया है और इसे सफल बनाने की लिए जनता का समर्थन माँगा है। 

क्या कोरोना(Corona virus) वायरस छेत्रिय इलाको को भी प्रभावित कर सकता है ?


हालाँकि कुछ दल और पार्टिया इसका विरोध कर रही है और इसे निश्कर्षहीन कदम साबित कर रही है!

कुछ डॉक्टरस की माने तो ये कदम काफी सराहनीय है और इससे कुछ मदत तो जरूर मिलेगी इस  महामारी को कमजोर करने में'। 

जाहतक इस बीमारी का छेत्रिय स्थानों को प्रभावित करने का विषय है वहां इस विषय को हलके में नहीं लिया जाना चाहिए क्युकी छेत्रिय इलाको में कोरोना की जाँच एवं रोगधाम की सुविधा कि तुलना शहरी स्थानों से नहीं की जा सकती और ये काफी  गंभीर साबित हो सकता है । हालाँकि सरकार इस विषय पर बहोत सक्रिय है। 


How dangerous corona virus is for rural arras.


इसीलिए हम सभी लोगो को यही कहना चाहेंगे कि जरूरी न होने पर अपने घरो से न निकले और अपने जीवन के लगभग कई हजार दिनों में से कुछ दिन अपने परिवार के साथ बिताये । कोरोना वायरस  आपके लिए मामूली हो सकता है लेकिन आपके बड़े बुजुर्ग और बच्चो के लिए घातक साबित हो सकता है। 

कोरोना(Corona virus) से डरे नहीं लेकिंन सावधानी बरते । 

0 comments:

Post a Comment